अपराधमध्य प्रदेश

कपडा व्यवसायी का नौकर ही निकला मास्टर माइंड,3 आरोपी गिरफ्तार, 1 फरार


सतना(ननकू यादव ) :पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौतम सोलंकी एवं नगर पुलिस अधीक्षक विजय प्रताप सिंह के मार्गदर्शन में सिटी कोतवाली निरीक्षक अर्चना द्विवेदी व उनकी टीम ने रेडीमेड कपड़ा व्यवसायी के साथ हुई लूट का खुलासा करते हुए 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जबकि इस कांड में शामिल एक आरोपी अभी पुलिस पकड़ से बाहर है, जिसकी तलाश जारी है।


घटना विवरण :-


दिनांक 25.08.2020 को रात करीबन 10:30 बजे फरियादी कन्हैया लाल गाजरानी पिता सुन्दरलाल गाजरानी उम्र 55 साल निवासी भरहुत नगर सेलटेक्स कालोनी के पीछे थाना कोलगवां जिला सतना का थाना उपस्थित आकर रिपोर्ट लेख कराया कि बिहारी चौक में उसकी रेडीमेड कपडे की दुकान कन्हैया ड्रेसेस के नाम से है। दिनांक 25/9/2020 को रात करीबन 10 बजे वह अपनी दुकान बंद करके स्कूटी होण्डा एक्टिवा से भरहुत नगर स्थित घर जा रहा था। जैसे ही वह सर्किट हाउस के आगे रिची-रिच होटल के सामने पहुंचा उसी समय पीछे से एक मोटर सायकल में तीन लडके आये, जिसमें सबसे पीछे वाले लडके ने मेरे बाये कंधे में टंगा काले रंग का बैग जिसमें एक एचपी कंपनी का लैपटाँप, सैनडिक्स कंपनी की पेनड्राईव, तथा करीबन 2 लाख रुपये नगद रखे थे छीन लिये। उनकी इस अप्रत्याशित हरकत से वह अपनी स्कूटी से गिर गए, तब तक उक्त तीनो लड़के मोटर सायकल से सेमरिया चौक की तरफ भागे। सेमरिया चौक तक पीछा किया तो वे लोग बिरला रोड तरफ भाग गये। फरियादी की रिपोर्ट पर थाना सिटी कोतवाली सतना मे अपराध क्रमांक 551/2020 धारा 392 ताहि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना की गई। दौरान विवेचना के अज्ञात आरोपियों की पता तलाश हेतु पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल एक टीम गठित की गई । टीम द्वारा लगातार अथक प्रयास कर शहर मे लगे सीसीटीव्ही कैमरों की फुटेज देखी गई तो उसमे तीन लडके संदिग्ध दिखाई दिए जिन्हें फरियादी द्वारा पहचान लिया गया। सीसीटीव्ही फुटेज मे ही आरोपियों द्वारा घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल क्रमांक एम पी 19 एम व्ही 1084 का नंबर ज्ञात हुआ, जिसके पता तलाश करने पर वाहन स्वामी का नाम विजय अहिरवार पिता छोटे अहिरवार निवासी ग्राम गिंजारा थाना नागौद जिला सतना का होना ज्ञात हुआ। जिससे उसके घर जाकर विजय के संबंध मे जानकारी ली गई तो विजय घर से फरार होना पाया गया। पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल के नेतृत्व में लगातार अथक प्रयास एवं साइबर सेल के योगदान से आरोपियों तक पहुंचा जा सका। आरोपियों द्वारा पहले तो पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की गई, परंतु कड़ाई से पूछताछ करने पर नौकर संतू उर्फ संतलाल ने स्वीकार किया कि वह अपने सहयोगियों के साथ मिलकर प्लान बनाकर इस घटना को योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया। पुलिस द्वारा संतू उर्फ संतलाल अहिरवार के बताए अनुसार संतू एवं उसके दो नाबालिग साथियों को गिरफ्तार किया गया तथा आरोपी विजय उर्फ विज्जू फरार है। आरोपियों द्वारा बताया गया कि लूटी गई नगदी में से 1 लाख 90 हजार रूपये एक नाबालिग आरोपी अपने घर मे रखी टीवी के अंदर डालकर छिपाया है। फरियादी के बैग मे जो लैपटाप एवं पेनड्राईव थी उसको क्षतिग्रस्त करके रामपुर बाघेलान के पास बाईपास मे रोड के किनारे भरे पानी के गड्ढां में डालना व खाली बैग को वहीं दूसरी तरफ दूसरे पानी के गड्ढे मे फेंकना बताया। इसके अलावा 10 हजार रुपये एवं घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल को विजय उर्फ विज्जू द्वारा लेकर फरार हो जाना भी बताया। पुलिस द्वारा आरोपियों के निशानदेही पर नाबालिग आरोपी के घर से टीव्ही के बाडी के अंदर से 1 लाख 90 हजार रुपये तथा रामपुर बाघेलान के बाईपास के पास पानी के गड्ढों मे तलाश कर लैपटाप, खाली बैग बरामद किया जाकर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों को न्यायालय के समक्ष न्यायिक रिमांड में 29.09.2020 को पेश किया गया है।
सराहनीय भूमिका :-
निरीक्षक अर्चना द्विवेदी थाना प्रभारी सिटी कोतवाली, उनि सुधांशू तिवारी थाना प्रभारी सिविल लाईन, उनि गोपाल चौबे थाना प्रभारी कोठी, उनि संदीप चतुर्वेदी, उनि के एन मिश्रा, उनि विक्रम सिंह, प्रधान आरक्षक रामनिवास बागरी, आरक्षक आकाश द्विवेदी, हरीश मिश्रा, संदीप तिवारी, प्रदीप पाण्डेय, पुनीत सिंह, सत्यनारायण वर्मा थाना कोतवाली, आरक्षक रमाकांत तिवारी, अरविंद सिंह, राहुल सिंह, जगदीश मीना, अभिषेक पाण्डेय, रामानुज शर्मा, रामकिशोर कुशवाहा, पुष्पेन्द्र सिंह, सैनिक रुद्री प्रसाद पाण्डेय, सायवर सेल से उनि अजीत सिंह, प्रधान आरक्षक दीपेश पटेल, आरक्षक संदीप सिंह, विपेन्द्र मिश्रा का सराहनीय योगदान रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close