खास खबरमध्य प्रदेश

कलेक्टर ने किया राज्य कैंसर संस्थान का निरीक्षण,सुखसागर कोविड केयर सेंटर में भर्ती कोरोना मरीजों से की बात


जबलपुर :कलेक्टर भरत यादव ने आज मेडिकल कॉलेज परिसर स्थित राज्य कैंसर संस्थान भवन का निरीक्षण कर यहाँ कोरोना मरीजों का उपचार करने के लिये सभी जरूरी व्यवस्थायें तीन दिन के भीतर पूरी कर लेने के निर्देश दिये हैं। श्री यादव ने कैंसर संस्थान भवन में कोरोना मरीजों के उपचार के लिये ऑक्सीजन सप्लाई लाइन सहित अन्य उपलब्ध संसाधनों के बारे में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जो कमियाँ रह गई हैं उनकी भी दो-तीन दिनों के भीतर पूर्ति कर ली जाये। कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान मौजूद चिकित्सा अधिकारियों से कहा कि यहाँ कोरोना मरीजों का उपचार प्रारम्भ करने के पहले सभी तकनीकी पहलुओं का परीक्षण भी कर लें।
राज्य कैंसर संस्थान भवन के निरीक्षण के पहले कलेक्टर श्री यादव ने डीन कार्यालय में मेडिकल कॉलेज के एवं स्वास्थ विभाग के अधिकारियों से चर्चा करते हुये कोरोना मरीजों के उपचार के लिये सुपर स्पेशलि‍टी हॉस्पिटल में की जा रही अतिरिक्त व्यवस्थाओं का ब्यौरा लिया। उन्होंने कोरोना मरीजों के बेहतर उपचार के लिये मेडीकल कॉलेज के चिकित्सकों एवं नर्सिंग स्टा‍फ के समर्पण भाव की तारीफ करते हुये कहा कि मरीजों के उपचार में लगे चिकित्सकों को स्वतंत्रता दिवस पर सम्मानित किया जायेगा।श्री यादव ने कोराना से होने वाली मौतों को रोकने के लिये कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आयें हाई‍ रिस्क और बुजुर्ग व्यक्तियों का अर्ली स्टेज में उपचार प्रारंभ करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्तियों को समय रहते अस्पताल में भर्ती कराने के लिये न केवल लोगों को जागरूक करना होगा, बल्कि स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले तथा आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आये हाईरिस्क एवं बुजु्र्ग व्यक्तियों को घर से निकालकर अस्पताल पहुंचाना होगा ताकि आगे उन्हें स्वास्थ्य संबंधी कोई कठिनाई पैदा न हो।
श्री यादव ने चिकित्सक अधिकारियों के साथ चर्चा के दौरान मेडीकल कॉलेज में हेल्प डेस्क की स्थापना करते करने की बात भी कही। ताकि यहां उपचार के लिये भर्ती कोरोना मरीजों के परिजन इस हेल्प डेस्क से फोन पर संपर्क कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें। श्री यादव ने कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों की सुविधा के लिये माईक्रोफोन या वायरलेस घंटी लगाने जैसी कोई ऐसी व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये जिससे कि जरूरत पड़ने पर नर्स या वार्डबॉय तुरंत उन्हें अटेण्ड कर सकें और उनकी समस्या का निदान हो सकें।
कलेक्टर ने मेडीकल कॉलेज में कल दी गई प्लाज्मा थेरेपी के बाद संबंधित कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य के बारे में चिकित्सकों से जानकारी ली। दोनों मरीजों की हालत पहले से बेहतर बताये जाने पर उन्होंने कोरोना के और भी गंभीर मरीजों की जान बचाने के लिये प्लाज्मा थेरेपी देने के निर्देश दिये।
सुखसागर कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से की चर्चा :
कलेक्टर श्री यादव ने राज्य कैंसर संस्थान के बाद सुखसागर कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण भी किया। उन्होंने यहां भर्ती कोरोना मरीजों से चर्चा करते हुये भोजन आदि की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। श्री यादव ने कोरोना के मरीजों से उनके हाल-चाल भी जाने और अपनी समस्या या कठिनाईयों को खुलकर बताने का आग्रह किया। इस दौरान सभी मरीजों ने चिकित्सकों और स्टॉफ के व्यवहार की तारीफ की। मरीजों ने सुखसागर कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाओं को भी अच्छा बताया। एक मरीज की शौचालय में कम रोशनी होने की शिकायत पर कलेक्टर ने तत्काल इसे दूर करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये।कलेक्टर श्री यादव ने बिना लक्षण या हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों को भर्ती कर उपचार करने के लिये मंगेली स्थित श्रमोदय आवासीय विद्यालय में की जा रही व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। राज्य कैंसर संस्थान भवन, श्रमोदय आवासीय विद्यालय और सुख सागर कोविड केयर सेंटर के निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ. प्रदीप कसार, सीएमएचओ डॉ. रत्नेश कुररिया, मेडीकल अस्पताल के अधीक्षक डॉ. राजेश तिवारी, मेडीकल कॉलेज के कोविड वार्ड प्रभारी डॉ. संजय भारती, एसडीएम गोरखपुर मणिन्द्र सिंह एवं जेटीपीसी के सीईओ हेमंत सिंह भी मौजद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close