अपराधबड़ी खबरमध्य प्रदेश

कूम्ही में कोहराम आगजनी, पथराव, एसडीओपी ,टी आई को घेरा तोड़ दी कार पुलिस ने छोड़े अश्रु गैस के गोले

जबलपुर :मझगवां थाना क्षेत्र में बुधवार को हुए हत्याकांड और महिला पर कातिलाना हमले से गुस्साये ग्रामीणों ने आज सुबह आरोपियों के घरों में आग लगा दी साथ ही सुबह पीड़ित परिजनों से मिलने पहुँची सिहोरा एसडीओपी भावना मरावी और सिहोरा टी आई गिरीश धुर्वे को 500 ग्रामीणों ने घेर लिया उसी दौरान भीड़ इतनी बेकाबू हो गई की आरोपियों के घर व ढाबे में तोड़फोड़ करते हुए आग लगा दी वहीँ जब तक और बल पहुँचता तब तक आक्रोशित भीड़ ने तबाही का तांडव मचा दिया था जिन्हें काबू में करने के लिए सिहोरा ,खितौला ,कुंडम व सिलमनाबाद पुलिस बल के साथ सिहोरा एसडीएम गौरव वेनल ,तहसीलदार नीता कोरी भी पटवारियों के साथ पहुँचे और भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने अश्रु गेस के गोले छोड़े तकरीबन एक घँटे की मसक्कत के बाद पुलिस ने स्तिथि को नियंत्रण में कर लिया लेकिन इस घटना में एक सब इंस्पेक्टर व खितौला थाना के चालक को चोटें आई है साथ एसडीओपी भावना मरावी का मोबाईल भी गाड़ी से ग्रामीणों ने निकाल लिया

थाना लेकर पहुँचे थे शव आखिर क्यों थे ग्रामीण पुलिस से खपा

वहीं मझगवां थाना क्षेत्र के कूम्ही में हुए हत्याकांड के बाद म्रतक के परिजनों ने अस्पताल से शव लाकर बुधवार की रात को मझगवां थाने में रख दिया और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए टी आई व सब इंस्पेक्टर सैय्याम पर आरोपियों को फरार करवाने के आरोप लगाते हुए हंगामा सुरु कर दिया इस दौरान म्रतक के तकरीबन 40 से 50 परिजन थाना पहुँचे और हंगामा सुरु कर दिया तो वहीं स्तिथि को काबू में करने सिहोरा व खितौला टी आई पुलिस बल के साथ मझगवां थाना पहुँचे म्रतक रविन्द्र कुम्हार के परिजनों का आरोप है की पुलिस ने पैसे लेकर आरोपियों को फरार कर दिया है देर रात तक चले हंगामे के बाद किसी तरह पुलिस ने उन्हें समझा बुझाकर घर पहुँचाया ,और आज सुबह गुरुवार के दिन ग्रामीणों का आक्रोस एक बाद फिर जाग गया आक्रोस भी इतना की ग्रामीणों ने आरोपियों के घरों व दुकान पर आग लगा दी पुलिस के वाहनों के साथ तोड़फोड़ करते हुए पुलिस पर पत्थर बरसाए इस घटना के दौरान खितौला थाने के सब इंस्पेक्टर जे पी द्विवेदी सहित वाहन चालक छोटू दाहिया को भी चोटें आई है फिलहाल स्तिथि नियंत्रण में है और पुलिस के सख्त पहरे में म्रतक रविन्द्र कुम्हार का अंतिम संस्कार कर दिया गया है लेकिन इस बीच सबसे बड़ा सवाल यह है की आखिरकर ग्रामीण मझगवां पुलिस से इतने खपा क्यो थे जिसकी पड़ताल करने पर पता चला की ग्रामीण चार आरोपियों के अलावा उनके चाचा व उसके लड़को पर भी अपराध कायम करवाने की मांग कर रहे थे ग्रामीणों का आरोप था की पुलिस तीन और का आरोपी रामचरण राय का भाई रामप्रसाद राय पिता शिवदयाल और उसके बेटे संजीव राय ,अजीव राय के नाम पर मामला दर्ज नहीँ किया पुलिस ने पैसे लेकर मामले को कमजोर कर दिया कहीँ न कहीँ ये गुस्सा ग्रामीणों में फूट फूट कर भरा था

महिला की हालत गम्भीर ये है मामला

वहीं ग्रामीणों ने बताया की मारपीट में घायल महिला गर्भवती थी जिसकी हालत नाजुक बनी हुई है तो वहीं मझगवां टी आई सुखदेव धुर्वे ने बताया की पीएम आवास की जगह पर आरोपी राय परिवार और म्रतक का परिवार दोनों ही दावा कर रहे थे की ये जगह उनकी है बुधवार की सुबह आठ बजे के लगभग घायल महिला भागवती कुम्हार व उसका पति पीएम आवास की जगह पर खम्बा लगा रहे थे उसी दौरान आरोपीगण आये और बोले की ये जगह उनकी है यहाँ पर खम्बा नहीँ लगाओ इसी बात को लेकर विवाद बढ़ गया और आरोपियों द्वारा महिला व उसके जेठ पर फावड़े से हमला बोल दिया गया जिसमें दोनों को गम्भीर चोटें आई थी इलाज के दौरान महिला के जेठ की मौत हो गई फरियादी शिवचरण कुम्हार पिता कोदूलाल कुम्हार की रिपोर्ट पर पुलिस ने सभी चारों आरोपियों के खिलाप धारा 294 ,323 ,324 ,506 ,34 ,302 के तहत मामला दर्ज करते हुए पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close