खास खबरमध्य प्रदेश

केन्द्रीय जेल में बनाये जायेंगे,सूती कपड़े के मास्क,कोरोना संक्रमण से बचने के लिए किया जा रहा ये


जबलपुर,नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए बरती जा रही सावधानियों के तहत उपायों के तहत अब नेताजी सुभाषचन्द्र बोस केन्द्रीय जेल जबलपुर में सूती कपड़ों से तीन लेयर वाले मास्क बनाये जायेंगे । कोरोना वायरस को लेकर विश्वव्यापी चिंता की वजह से स्थानीय बाजार में मास्क की मांग और आपूर्ति में आये अंतर को देखते हुए विशेषज्ञ चिकित्सकों की सलाह पर केन्द्रीय जेल के कैदियों से इन्हें बनवाने की यह पहल कलेक्टर भरत यादव द्वारा की गई है ।


कलेक्टर श्री यादव ने आज विक्टोरिया अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के निरीक्षण के दौरान केन्द्रीय जेल से बनकर आये मास्क के सेम्पल भी देखे । उन्होंने केन्द्रीय जेल के बंदियों के साथ-साथ आजीविका परियोजना के तहत गठित महिला स्व-सहायता समूहों, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड एवं स्थानीय रेडीमेड गारमेंट्स निर्माताओं से इस तरह के मास्क बनवाने के निर्देश चिकित्सा अधिकारियों को दिये । श्री यादव ने कहा कि ये मास्क न्यूनतम कीमत पर निजी एवं शासकीय अस्पतालों को उपलब्ध कराने के साथ-साथ कलेक्ट्रेट में स्व-सहायता समूहों के उत्पादों के विक्रय के लिए बनाये गये आउटलेट पर भी उपलब्ध कराये जायें ।
जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनीष मिश्रा के अनुसार नोवल कोरोना का वायरस 400 माइक्रॉन से बड़ा होने के कारण इसके संक्रमण को रोकने सूती कपड़े से दो लेयर में बना मास्क भी कारगर साबित होता है । उन्होंने बताया कि सूती कपड़े से बने मास्क को साबुन से धोकर, सुखाकर और प्रेस कर कई बार इसका उपयोग किया जा सकता है । डॉ. मिश्रा ने बताया कि सूती कपड़े के मास्क घर में भी बनाये जा सकते हैं । सूती कपड़े के रूमाल को भी दो लेयर में बांधकर मास्क की तरह उपयोग में लाया जा सकता है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close