खास खबरमध्य प्रदेश

कोरोना से निपटने की तैयारियों की संभागायुक्त ने की समीक्षा


जबलपुर :कमिश्नर महेशचंद चौधरी ने मंगलवार को मेडिकल कॉलेज में बैठक लेकर कोरोना के बढ़ते प्रसार से निपटने तैयार की गई रणनीति पर चर्चा करने के साथ लैब व प्रतिदिन की सैंपल जांच की स्थिति का समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि मेडिकल हॉस्पिटल केंपस से लिये जाने वाले सेम्पल की प्राथमिकता से जांच करें इसके साथ ही मंडला,-डिंडोरी व जबलपुर से प्राप्त सैम्पल को भी प्राथमिकता दी जाये। कमिश्नर श्री चौधरी ने कहा कि 24 घंटे के अंदर जांच का आउटकम आ जाये इसमें देरी न करें। डाटा एनालिसिस के लिए शाम 6:00 बजे तक क्लोजिंग टाइम रखें। उन्होंने डीन मेडिकल कॉलेज से कहा कि वे आईसीएमआर के अधिकारियों से किट को लेकर संवाद बनाए रखें क्योंकि डिमांड के अगेंस्ट किट नहीं मिलने पर कार्य प्रभावित होता है। इस संबंध में एक पत्र भी उन्होंने संबंधित अधिकारियों को लिखने के लिए निर्देशित किया। कमिश्नर श्री चौधरी ने मेडिकल कॉलेज लैब में कार्य ठीक ढंग से करने पर संबंधित चिकित्सकों की सराहना की। इसके साथ ही कहा कि डाटा एंट्री समय पर होती रहे। उन्होंने ओपीडी की संख्या की समीक्षा की और अस्पताल में उपलब्ध संसाधनों पर चर्चा कर सभी जरूरी व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने कोरोना पेशेंट की इलाज व उनके भोजन आदि व्यवस्था की जानकारी भी ली। मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. कसार ने बताया कि मेडिकल कॉलेज जबलपुर में अन्य कॉलेजों की तुलना में मृत्यु दर कम है और रिकवरी रेट 75% है अभी तक 355 कोरोना के मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। कुछ मरीज तो 80 तथा 93 वर्ष के भी कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त होकर डिस्चार्ज हुए हैं।
कमिश्नर श्री चौधरी ने कहा कि कोरोना वायरस से निपटना एक बड़ी चुनौती है अतः सभी संवेदनशील व सक्रियता के साथ कार्य करें साथ ही संक्रमण से बचाव के लिए सभी आवश्यक उपाय भी करते रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close