धर्ममध्य प्रदेश

ग्रहों की वक्री चाल और ग्रहण,जून का महीना क्या कुछ लेकर आने वाला है?

ज्योतिषाचार्य निधिराज त्रिपाठी के अनुसार —
जून का महीना काफी गतिशील और ऊर्जा से भरा रहने वाला है क्योंकि इस माह में हम एक लंबे अंतराल के बाद आकाशीय क्षेत्र पर होने वाली एक दुर्लभ और विस्मयकारी घटना के साक्षी रहेंगे । 6 जून से 5 जुलाई 2020 तक, यानि कि महज 30 दिनों के अंदर आपकी कुंडली तीन ग्रहणों से प्रभावित रहने वाली है। इस की शुरुआत 6 जून को होने वाले चंद्र ग्रहण के साथ होगी, फिर इस कड़ी में आगे हम 21 जून को पूर्ण सूर्यग्रहण जुड़ता हुआ देखेंगे और इसका समापन 5 जुलाई को एक और चंद्र ग्रहण के साथ होगा। इसके साथ एक और महत्वपूर्ण खगोलीय घटना यह होगी कि अधिकतम ग्रह मिथुन राशि में विचरण करेंगे और छह ग्रह अपनी गति से अपनी विपरीत गति में चलते हुए प्रतीत होंगे, इसका मतलब है वो “वक्र” गति में रहेंगे, जो नतीजों की प्रक्रिया में और तेज़ी स्फूर्ति लेकर आयेगा। इस समय जानमानस में भावनाओं का अतिरेक रहेगा , इसलिए इस अवधि में कोई भी महत्व पूर्ण फैसला जैसे नौकरी में फेरबदल, शादी, किसी उच्च मूल्य की वस्तु की खरीद- बिक्री या निवेश, इनका निर्णय बहुत ही सोच-समझकर लेने की ज़रूरत रहेगी।  **आप अपनी हर समस्या के समाधान हेतु हम से संपर्क कर सकते हैं l ज्योतिषाचार्य निधि राज त्रिपाठी**
9302409892 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close