अपराधमध्य प्रदेश

चौपड़ा धाम के साधू को मौत के घाट उतारने वाला, 5 हजार का इनामी आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर :खितौला के चौपड़ा धाम में हुई साधु की हत्या के बाद से फरार चल रहे दूसरे आरोपी को घुघरा के जंगल से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, आपको बता दें की साधू भैयालाल यादव पिता स्व0 भुल्ला यादव उम्र 85 साल निवासी सिमरा पटी, बहोरीबंद जिला-कटनी को चौपड़ा धाम में ही मौत के घाट उतार दिया गया था,साधु की हत्या करने वाला एक आरोपी तो पहले ही पकड़ा जा चुका था दूसरे आरोपी की भी पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही थी ,फरार आरोपी राजेश पिता चन्दू गोंड उम्र 28 साल निवासी ग्राम लमकना (मझगवां)को पुलिस ने दिनांक 24.08.2020 को गिरफ्तार करते हुए नगदी 500 रूपये, एक गैती जंग खायी, एक बाबा की झोली संतरा रंग की जप्त की है,

ये है पूरा मामला ,

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक दिनांक 13.05.20 को प्रार्थी रामगोपाल यादव निवासी ग्राम सिमरा पटी थाना बहोरीबंद के द्वारा थाना खितौला में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी कि उसका बडा भाई भैयालाल यादव करीब 20 साल से चैपडा धाम घुघरा में रहकर भगवान का भजन करता था जिससे दिनांक 30.04.20 को मोबाईल से बात हुई थी उसके बाद से भैयालाल का कोई पता नहीं चला है जिस पर थाना खितौला में गुमइंसान क्र0 19/20 कायम कर गुमइंसान भैयालाल की तलाश की गई। तलाश के दौरान चैपडाधाम के जंगल में मृतक के गले की तुलसी की माला व बाल एक नाले में पडे मिले जिसके कुछ दूर पर नाले में ताजी मिट्टी के ऊपर सूखे पत्ते ढके होने से संदेह होने पर मिट्टी को हटवाया गया जिसमें गुमइंसान भैयालाल यादव का शव बायी करवट ओंधा पडा मिला जिसकी पहचान मृतक के भाई रामगोपाल के द्वारा की गई। मौके पर देहाती मर्ग कायम कर जांच की गई। मर्ग जांच पर पाया गया कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मृतक भैयालाल की हत्या कर मिट्टी में छिपा दिया गया था जिस पर थाना खितौला में अप0क्र0 118/20 धारा 302, 201 ता0हि0, कायम कर विवेचना में लिया गया था।विवेचना दौरान पाया गया कि एक वर्ष पूर्व चैपडा धाम में अन्नूसिंह द्वारा चोरी की घटना को अंजाम दिया गया था और पकडे जाने पर चैपडा धाम से जुडे लोगो द्वारा डाट-फटकार कर भगाया गया था तब से वह रंजिश रखता था तथा अन्नूसिंह की सोहरत जंगल में रहकर आस-पास के गांव में छोटी-छोटी चोरी करने की थी। अन्नूसिंह निवासी ग्राम घुघरा थाना खितौला की लगातार सरगर्मी से तलाश पतासाजी कर ग्राम कुर्रे के ईट भट्टा के पास लुकता-छिपता मिला जिसे पुलिस स्टाॅफ एवं ग्रामवासियों के सहयोग से घेराबंदी कर दिनांक 18.05.2020 पकडा गया था। इसके उपरांत अन्नूसिंह से घटना के संबंध में सघन पूछतांछ की गई जिसने बताया कि मृतक भैयालाल जब किसी कार्यवश जंगल की तरफ जा रहा था उसी दौरान रास्ते में अपने अन्य एक साथी राजेश पिता चन्द्र गोंड उम्र 28 साल निवासी लमकना (मझगवां) थाना सिहोरा के साथ मृतक भैयालाल से पैसो की मांग की गई जब उसने पैसे देने से मना किया तो दोनो आरोपीगणों ने बका से मृतक भैयालाल के पेट एवं गले में हमला कर नाली में धक्का दे दिया और उसी नाले में दोनो आरोपीगणो ने मिलकर कुदारी से गढढा खोदा और मृतक भैयालाल के शव को खींचकर गढढे में धकेलकर ऊपर से म्टिी और पत्ते डाल कर शव को छिपा दिया इसके बाद दोनो आरोपीगण मृतक भैयालाल के थैले में रखे पाचं हजार रूपये और भगवान विष्णु की मूर्ति लेकर भाग गये। आरोपी अन्नूसिंह की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त बका आदि जप्त किया गया था। तथा घटना दिनांक से आरोपी राजेश उर्फ राजू गौड़ फरार था।

घुघरा के जंगल में काट रहा था फरारी ,

वहीं फरार आरोपी की तलाश के लिए पुलिस अधीक्षक जबलपुर द्वारा 5000 रूपये की ईनाम की उद्घोषणा की गई थी तथा पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध डाॅ. रायसिंह नरवरिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शिवेश सिंह बघेल, एस0डी0ओ0पी0 सिहोरा भावना मरावी के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी खितौला निरीक्षक गोपाल सिंह जगेत के नेतृत्व में थाना खितौला की टीम का गठन किया गया।दिनांक 24.08.2020 को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई की आरोपी राजेश उर्फ राजू गौड़ चैपड़ा धाम के बाबा की हत्या करने वाला ग्राम घुघरा के जंगल में चैपड़ा धाम के पास खेत के पास बनी मढईया में आया हुआ है कि सूचना पर तत्काल रवाना होकर बताये गये स्थान की घेराबंदी कर आरोपी राजेश उर्फ राजू गौड़ पिता स्व0 चंदू गौड़ उम्र 28 साल निवासी ग्राम मझगवां (रिछी) थाना सिहोरा का मिला जिससे चैपड़ा धाम के बाबा भैया लाल के बारे में पूछताछ किया जिसने उक्त घटना घटित करना स्वीकार किया एवं एक लोहे की गैती जिससे गढढा किया गया एवं थैली जिससे पैसा निकाले थे पेड़ के नीचे छिपाकर रख दिया था आरोपी की निशादेही पर लोहे की गैती, संतरा रंग की थैली एवं 500 रूपये नगद जप्त कर फरार आरोपी को गिरफ्तार किया गया।

उल्लेखनीय भूमिका,

आरोपी को गिरफ्तार करने में निरीक्षक गोपाल सिंह जगेत, उप निरीक्षक जे0पी0 द्विवेदी थाना सिहोरा, स0उ0नि0 के0पी0 दुबे, स0उ0नि0 जी0सी0 चैधरी, प्रधान आरक्षक गुलाब पाण्डेय आरक्षक नीरज चैरसिया एसडीओपी कार्यालय, आरक्षक अमित रैकवार, आरक्षक संतराम, आरक्षक चालक रमेश, आरक्षक संदीप द्विवेदी की उल्लेखनीय भूमिका रही

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close