अपराधमध्य प्रदेश

जन्मदिन में छलकाए जाम,फिर कारों के कांच तोड़ते रहे,गर्लफ्रेंड से मिलवाने की जिद करने पर कर दी हत्या

जबलपुर :जन्मदिन के जश्न में जमकर शराब पी फिर सड़कों में मोटरसाईकल से घूमकर कारों के कांच तोड़ते रहे,इतना ही नहीँ जिस मित्र को शराब पिलाई साथ मे सेलिब्रेट किया उसके द्वारा रात में गर्लफ्रेंड से मिलवाने की जिद पर हत्या कर दी थी ऐसी ही एक अंधी हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है,

जन्मदिन की रात शराबखोरी,हत्या उपद्रव

कंट्रोल रूम में आज एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने पत्रकार वार्ता आयोजित कर बताया की थाना रांझी में आज दिनाॅक 6-9-2020 की सुबह मरघटाई्र मोहल्ला मडई में एक युवक के मृत पडे होने की सूचना पर पहुंची पुलिस को मनोज कोल उम्र 42 वर्ष निवासी फक्कड बाबा मंदिर के पास रांझी ने बताया था कि  सुबह लगभग 5-30 बजे उसके बडे बेटे अभिषेक कोल उम्र 18 वर्ष के मरघटाई मोहल्ला मडई मे रोड किनारे पडे होने की जानकारी मिलने पर तुंरत पहुंचा तो देखा कि उसका बेटा अभिषेक कोल रोड किनारे मृत पडा था जिसके पेट, पीठ, दोनों हाथ, गर्दन व कमर मे कई जगह चाकू के घाव थे, काफी खून बहा था,। किसी अज्ञात ने उसके बेटे अभिषेक कोल की चाकू से हमला कर हत्या कर दी है। घटना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया,सूचना पाकर पहुंचे  थाना प्रभारी रांझी श्री आर.के. मालवीय, नगर पुलिस अधीक्षक रांझी श्री कौशल सिंह  एवं उप पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सुश्री अपूर्वा किलेदार पहुंचे, वरिष्ठ अधिकारियों एवं  एफ.एस.एल. टीम की उपस्थिति में पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाया गया।  रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 भादवि के तहत कार्यवाही करते हुये प्रकरण विवेचना मे लिया गया।

म्रतक के खिलाप रांझी में दर्ज है मामले

वहीं घटना को गम्भीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा ने आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर अगम जैन (भा.पु.से.) एवं  नगर पुलिस अधीक्षक रांझी कौशल सिंह  द्वारा थाना प्रभारी रांझी आर.के. मालवीय के नेतृत्व में  टीम गठित कर लगायी गयी।प्रारम्भिक पूछताछ एवं जांच पर पाया गया कि मृतक अभिषेक कोल रात 10 बजे घर से खाना खाकर निकला था, थाना रांझी में मृतक अभिषेक कोल के विरूद्ध पूर्व से 3 अपराध लूट, अवैध वूसली, एवं नकबजनी के पंजीबद्ध होकर न्यायालय में  विचाराधीन हैं।

पहले जन्मदिन पर छलकाए जाम

एसपी द्वारा गठित टीम के द्वारा जब परिजनों, परिचितों, साथीदारानों एवं घटना स्थल के आस-पास रहने वाले लोगों से पूछताछ एवं पतासाजी करते हुये  संदेही आकाश झारिया उर्फ सेठ जी, एवं गिरीश विश्वकर्मा को शारदा नगर स्थित गार्डन से अभिरक्षा में लेकर सघन पूछताछ की गयी, जिस पर पाया गया कि दिनाॅक 5-9-2020 को आकाश झारिया का जन्मदिन था, आकाश झारिया अपने साथी  गिरीश विश्वकर्मा के साथ दोस्त की पल्सर मोटर सायकिल मांग कर घूमने निकला था, रात्रि मे बडा पत्थर में एक मकान मे बैठकर दोनों शराब पी रहे थे, तभी वहाॅ अभिषेक कोल  पहुंच गया और  उनके साथ शराब पिया, शराब पीने के बाद तीनों पल्सर मोटर सायकिल में नशा करते एवं कारों के कांच फोड़ते हुये घूमते रहे, तथा रात्रि लगभग 3-30 बजे मडई मे जब तीनों खडे हुये, तो अभिषेक कोल गिरीश से 10 हजार रूपये की मांग करने लगा और आकाश से अपनी गर्ल फ््रैंड से मिलवाने की जिद करने लगा, जिस पर आकाश झारिया ने गुस्से में आकर चाकू से अभिषेक कोल के पेट, पीठ में 4-5 घाव मारे, अभिषेक कोल कुछ दूर भाग कर आगे गिर गया, तों गिरीश विश्वकर्मा ने घायल होकर गिरे हुये अभिषेक कोल से चाकू से और कई वार किये, जिससे अभिषेक कोल की मौके पर ही मृत्यु हो गयी तो दोनों पल्सर मोटर सायकिल से भाग गये, आरोपी आकाश झारिया एवं गिरीष विश्वकर्मा की निशादेही हास्टल न. 3 के पीछे छिपाकर रखी हुई पल्सर मोटर सायकिल एवं 1 चायना का बटनदार चाकू तथा घटना के वक्त पहने हुये कपडे़ एवं मृतक अभिषेक कोल का पर्स जिसमे उसकी मार्कशीट, बिजली का बिल तथा आधारकार्ड की फोटो काॅपी रखी हुई है, जप्त किया गया है।पकड़े गये आरोपी आकाश झारिया एंव गिरीश विश्वकर्मा आपराधिक प्रवृत्ति के हैं, आकाश झारिया के विरूद्ध 3 आपराधिक प्रकरण लूट एवं मारपीट के एवं गिरीश विश्वकर्मा के विरूद्ध 2 आपराधिक प्रकरण चोरी एवं मारपीट के पंजीबद्ध होकर मान्नीय न्यायालय में विचाराधीन है।

उल्लेखनीय भूमिका-

अंधी हत्या का खुलासा करते हुये आरोपियेां को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी रांझी आर.के. मालवीय, उप निरीक्षक आर.डी. रघुवंशी, प्रधान आरक्षक राजेश मिश्रा, आरक्ष़्ाक साकेत तिवारी, वीरेन्द्र पटेल, प्रदीप तिवारी, जितेन्द्र तिवारी, की सराहनीय भूमिका रही। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close