जरा हटकेमध्य प्रदेश

जानिए क्यों महंगा होता जा रहा है सरसों का तेल ?त्यौहार के पहले टेंशन वाली खबर

सतना (ननकू यादव )

सरसों के तेल की कीमतों में लगातार इजाफा (Mustard Oil Price hike) होता जा रहा है। इसकी कई वजहें हैं। एक तो पाम ऑयल पर पाबंदी लग गई है, दूसरा सरसों के तेल में ब्लेंडिंग (Blending of mustard oil) पर रोक लगा दी गई है। सरसों के तेल की कीमतें 150 रुपये प्रति लीटर (Mustard Oil Prices) तक पहुंच सकती हैं।

त्योहारी सीजन से पहले आई टेंशन देने वाली खबर, जानिए क्यों महंगा होता जा रहा है सरसों का तेल
पाम ऑयल पर पाबंदी लगने के बाद जनवरी 2020 से भारत में सरसों के तेल के दाम (Mustard Oil Prices) बढ़ रहे हैं। लॉकडाउन में भी कीमतों में इजाफा हुआ। और अब 1 अक्टूबर 2020 से सरसों के तेल में ब्लेंडिंग पर प्रतिबंध (Blending of mustard oil) लगा दिया गया है, जिसके चलते कीमतों में फिर से बढ़ोतरी (Mustard Oil Price hike) हो रही है। सरसों के तेल की बढ़ती कीमतों के चलते रसोई का बजट बिगड़ता जा रहा है।
120 रुपये से भी महंगा हुआ सरसों का तेल
120-
सरसों के तेल में ब्लेंडिंग बंद होने के चलते ग्राहकों को फायदा होगा, लेकिन कीमतें बढ़ने से नुकसान भी होगा। त्योहारी सीजन आने वाला है, जिसमें तरह-तरह के पकवान और मिठाइयां बनती हैं, जिनमें सरसों का तेल काफी इस्तेमाल होता है। आने वाले दिनों में भी सरसों के दाम बढ़ेंगे, जिसके चलते कोरोना काल में लोगों का त्योहारी सीजन काफी महंगा रहेगा। पिछले साल सरसों के तेल की कीमत 80 रुपये से 100 रुपये प्रति लीटर के बीच थी, लेकिन अब कीमतें 120 रुपये प्रति लीटर का आंकड़ा भी पार कर गई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close