दस बड़े वादों के साथ कांग्रेश का घोषणा पत्र जारी

शेयर करें:

नई दिल्ली: हम निभाएंगे वादे के साथ कांग्रेश ने अपना घोषणा पत्र आज जारी कर दिया आपको बता दें की कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोक सभा चुनाव 2019 के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है. कांग्रेस ने ‘हम निभाएंगे’ के वादे के साथ न्यूनतम आय योजना, रोजगार सृजन और किसानों के लिए अलग बजट समेत कई बड़े ऐलान किए हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मेनिफेस्टो जारी करते हुए सत्ता में आने पर 20 फीसदी गरीबों के लिए ‘न्यूनतम आय योजना’ शुरू करने का वादा किया. इसके तहत गरीब तबके के लोगों को प्रति माह 6,000 रुपये दिए जाएंगे. पार्टी ने अपने इस घोषणापत्र को ‘जन आवाज’ नाम दिया है.

कांग्रेस के जन आवाज घोषणा पत्र के दस बड़े वादे

1. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि हमने अपने चुनाव चिन्ह हाथ की थीम को ध्यान में रखते हुए 5 बड़े वादों को इसमें शामिल किया है. सबसे पहला थीम न्याय (न्यूनतम आय योजना) का है. न्याय के जरिए 72 हजार रुपये और गरीबी पर वार. कांग्रेस पार्टी की पहली गारंटी है कि हिंदुस्तान के 20 प्रतिशत गरीब परिवारों को हर महीने उनके अकाउंट में सीधे पैसा मिलेगा. हर साल 72 हजार रुपये और पांच साल में एक गरीब परिवार को इस योजना के तहत 3.60 लाख रुपये मिलेंगे.

2. किसानों और गरीबों की जेब में सीधा पैसा जाएगा. पीएम नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी करके देश की अर्थव्यवस्था को जाम किया, वह इससे खत्म हो जाएगा.

3. हमारा दूसरा थीम रोजगार है. देश में युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है. दो करोड़ रोजगार नहीं मिले. 22 लाख सरकारी रोजगार, उनको कांग्रेस मार्च 2020 तक भरकर दे देगी. रोजगार और किसान देश में दो सबसे बड़े मुद्दे हैं. 10 लाख युवाओं को ग्राम पंचायत में रोजगार दिलाएंगे.

4. तीन साल के लिए हिंदुस्तान के युवाओं को बिजनस खोलने के लिए इजाजत की जरूरत नहीं होगी. जो बिजनस करना चाहते हैं कीजिए. बैंक के दरवाजे आपके लिए हम खोलेंगे.

5. मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी अधिनियम) को हम 150 दिन गारंटीड करना चाहते हैं. हम मनरेगा के 100 दिन बढ़ाकर 150 दिन करना चाहते हैं. पहले हमारी सरकार ने इसे 100 दिन किया था.

6. किसानों के लिए दो बड़ी चीजें सोचीं. किसानों का एक अलग बजट होना चाहिए. देश के किसान को मालूम होना चाहिए कि उसको कितना पैसा मिल रहा है, उसकी एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) कितनी बढ़ाई जा रही है.

7. करोड़पति बैंक लोन लेते हैं लेकिन कर्ज चुकाए बिना बच निकलते हैं. हमने निर्णय लिया है कि किसान अगर कर्जा न अदा कर पाए तो वह आपराधिक मामला नहीं हो, बल्कि वह सिविल मामला बने.

8. हेल्थ केयर में हमारा जोर प्राइवेट हेल्थ इंश्योरेंस पर नहीं होगा. इसके बजाए हम सरकारी अस्पतालों को मजबूत करने का काम करेंगे. गरीब से गरीब व्यक्ति को सबसे बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिले इसकी भी व्यवस्था कांग्रेस की सरकार आने पर की जाएगी. हमारा फोकस होगा कि गरीब से गरीब व्यक्ति को हाई क्वॉलिटी सुविधा मुहैया कराई जा सके.

9. शिक्षा के क्षेत्र में हमने निर्णय लिया है कि जीडीपी का छह प्रतिशत देश की शिक्षा व्यवस्था पर खर्च करेंगे. यूनिवर्सिटी, कॉलेज, आईआईटी और आईआईएम की सबके लिए उपलब्धता बनाना चाहते हैं.

गब्बर सिंह टैक्स को हम जीएसटी में बदलेंगे. हम सिंपल टैक्स देंगे. कम से कम टैक्स होगा. सरल सिंपल टैक्स होगा. कांग्रेस ने घोषणापत्र में इसका भी जिक्र किया है.

10. कांग्रेस पार्टी देश को जोड़ने का काम करेगी. नैशनल और इंटरनल पॉलिसी पर हमारा सबसे ज्यादा जोर रहेगा. देश में मुख्य मुद्दा रोजगार का है. नरेंद्र मोदी ने अच्छे दिन का वादा किया था लेकिन सच्चाई ये है कि चौकीदार ने चोरी करवाई है. चौकीदार छिप सकता है, लेकिन भाग नहीं सकता है. अगर उनकी सरकार आती है तो कांग्रेस पार्टी आर्म्ड फोर्स स्पेशल पॉवर्स ऐक्ट (AFSPA) में संशोधन करेगी.