अर्थव्यवस्थाराष्ट्रीय

धड़ाम से गिरा शेयर बाजार,सबका अनुमान फेल


शेयर बाजार ने सबकी उम्मीदों में पानी फेर दिया है,पिछले एक हफ्ते से शेयर बाजार में गिरावट हावी है. इस गिरावट से निवेशकों में हाहाकार मचा हुआ है. दरअसल बढ़ते कोरोना संकट और खराब ग्लोबल संकेतों के चलते शेयर बाजार में लगातार छठे दिन गुरुवार को बिकवाली का दबाव देखने को मिला.

बाजार कहां जाकर थमेगा?


हर दिन निवेशकों का पैसा डूब रहा है. बाजार कहां जाकर थमेगा? इसका अनुमान लगाना मुश्किल हो रहा है. क्योंकि हर दिन सेंसेक्स-निफ्टी नीचे के सपोर्ट को तोड़ रहा है. यही वजह है कि गुरुवार को निफ्टी में 18 मई के बाद सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली.

सेंसेक्स और निफ्टी में गिरावट


इंट्राडे के दौरान निफ्टी 18 जून के बाद पहली बार 10909 के नीचे पहुंच गया. आज निफ्टी के सभी इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए. जबकि सेंसेक्स और निफ्टी में करीब 3 फीसदी की गिरावट देखने को मिली. कारोबार को अंत में सेंसेक्स 1114.82 अंक यानी 2.96 फीसदी टूटकर 36,553.60 के स्तर पर बंद हुआ.

मंथली एक्सपायरी के गिरावट


आज की गिरावट ने कई सालों के एक रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. मंथली एक्सपायरी के दिन सेंसेक्स में 9 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली. सेंसेक्स 1114.82 अंक गिरकर बंद हुआ. वहीं, निफ्टी 325.85 अंक यानी 2.93 फीसदी टूटकर 10,806 के स्तर पर बंद हुआ.

कारोबार के अहम दिन


यही नहीं, कारोबार के दौरान निफ्टी 10,800 के नीचे फिसल गया. गौरतलब है कि बाजार में लगातार छठे दिन बिकवाली का दबाव देखने को मिल रहा है. वहीं सोने-चांदी में भी दबाव जारी है. मंथली एक्सपायरी के दिन सभी तक फ्यूचर और ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट का आखिरी दिन होता है.

सोने का भाव


MCX पर फ्यूचर में सोने का भाव 50 हजार रुपये से नीचे पहुंच गया. फिलहाल MCX पर 5 अक्टूबर के फ्यूचर में गोल्ड का भाव 49428 रुपये पर बना हुआ है. MCX पर चांदी 57,000 रुपये के नीचे फिसल गई है. एक हफ्ते में चांदी में 17 फीसदी से अधिक गिरावट आई है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close