जरा हटकेमध्य प्रदेश

न सदस्यों को पता न लगे मजदूर जेसीबी से होने लगी खानापूर्ति

कटनी (अवधेश यादव ): कटनी जिले के बहोरीबंद तहसील में जल संसाधन विभाग द्वारा मजदूरों की जगह मशीनों से काम करवाया जा रहा है जबकी कोरोना काल मे सरकार द्वारा मजदूरों को रोजगार देने की बात की जा रही है ,लेकिन बहोरीबंद के कूड़न जलाशय की संता की राई पिपरिया मैं वार्ड नंबर 8 की नहर में जल संसाधन विभाग मजदूरों की जगह जेसीबी से कहीं-कहीं नाम मात्र के लिए करा रहे सफाई

सदस्यों की कोई पूछ परख नहीं चल रही मनमानी

आपको बता दें की जल संसाधन विभाग के काले कारनामे सामने आए दिन देखने को मिलते हैं जिससे कभी किसानों द्वारा चुने गए सदस्यों की बैठक ली जाती ना पूछताछ की जाती और मन मुताबिक अध्यक्ष और विभाग की मिलीभगत होकर खानापूर्ति कर करोड़ों की राशि का काम दर्शा दिया जाता है एक तरफ महामारी के चलते मध्य प्रदेश सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए सरकार इंदौरा पीट रही है और रोजगार की तलाश में मजदूर भटक रहे हैं यहां तक की जिला पंचायत वा जिला कलेक्टर महोदय के निर्देशानुसार नेहरों की मरम्मत व साफ-सफाई मजदूरों से कराए जाने की चर्चा सामने आई थी लेकिन यहां तो साहब की मेहरबानी से जेसीबी से कार छोटा सा करा दिया गया जिससे आगे कागजों में 50 ओवर का मजदूरों का फर्जी नाम डालकर दर्शा दिया जाएगा जिससे गरीबों मजदूरों का आनंद सामने दिखाई दे रहा है अब देखते हैं इसमें क्या कार्यवाही होगी वहीं इस मामले में एसडीओ जल संसाधन विभाग का कहना है कि हमारे विभाग की राशि है हमने ठेकेदार के माध्यम से जेसीबी लगवा कर सफाई कार्य जारी किया है मजदूर का काम नहीं है,मजदूर,, सोहनलाल यादव, राकेश सेन,उमेद यादव, ताराचंद,बलराम विश्वकर्मा, सुदर्शन, बिपत कुमार, बिहारी यादव, मंगीलाल, ,नहर सदस्य झल्लू यादव,का राजा दूबे नहर सदस्य ने बताया की ये सब काम विभाग अपनी मनमर्जी से करवा रहा है ,

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close