जरा हटकेमध्य प्रदेश

फॉलोअप:मंझोली की पड़वार पँचायत के भृस्टाचार की जांच करने,कौन से शुभ मुहूर्त का इंतजार कर रहे अधिकारी ?

जबलपुर:सरकार गांव और ग्रामीणों को सम्रद्ध बनाने कई लाभकारी योजनाएं संचालित करती है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है, भोलेभाले कई ऐसे ग्रामीणों को जो की पात्र होते हुए भी सरकारी योजनाओं का पूरा लाभ नहीं मिलता जिसका ताजा उदाहरण है,मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले की मंझोली जनपद की ग्राम पंचायत पड़वार का है, जहाँ पर एक दो नहीं बल्कि सरपँच ,सचिव और सहायक सचिव के खिलाप शिकायतों का पुलन्दा तैयार है, ग्राम का शायद ही कोई व्यक्ति हो जो इनके कार्यकलापो से खुश हो हलाकि ग्रामीणों द्वारा पँचायत कर्मियों पर भृस्टाचार के आरोप लगाते हुए जनपद सीईओ मंझोली सहित सिहोरा एसडीएम से न्याय की गुहार लगाई थी, लेकिन अभी तक कार्यवाही तो दूर की बात कोई अधिकारी जांच करने तक गांव नहीं पहुँचे ऐसे में प्रशासन की सुस्त कार्यप्रणाली से ग्रामीणों में भारी निराशा है,

मंझोली की पड़वार पँचायत में चरम पर भृस्टाचार,ग्रामीणों ने की शिकायत https://www.indiapolkhol.in/मंझोली-की-पड़वार-पँचायत-मे/

भृस्टाचार के आरोपों से घिरे है सचिव सरपँच और सहायक सचिव

ग्रामीण शिकायतें देकर लगभग 15 दिनों से न्याय पाने और निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाप कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग लिए प्रशासन से आस लगाकर बेठे है, यहाँ तक की ग्राम के कुछ लोगों द्वारा 181 में भी फोन लगाकर पँचायत में हुए भृस्टाचार की शिकायत की जा चुकी है, लेकिन सरकार की 181 भी ग्रामीणों को न्याय दिलाने में अभी तक सफल नहीँ हो पाई,ऐसे में सवाल उठते है की अधिकारी पँचायत कर्मियों द्वारा किये गए काले पीले की जांच कर कार्यवाही करने के लिए कौन से सुभ मुहूर्त का इंतजार कर रहे है,

सचिव सहायक सचिव पर लगे है गम्भीर आरोप

ग्रामीणों द्वारा सचिव भीष्म सिंह राजपूत और सहायक स्वेता पाठक पर आरोप लगाते हुए एसडीएम से शिकायत की है की ,सचिव सहायक सचिव द्वारा ग्राम पंचायत पड़वार में मुक्तिधाम निर्माण के लिए 27 लाख की राशि निकाली जा चुकी है, लेकिन मुक्तिधाम आजतक नहीँ बना,भटवा में रंगमंच के लिए डेढ़ लाख रुपये की राशि आई लेकिन रंगमंच आजतक नही बना,मुख्यमंत्री सबंल योजना के अंतर्गत किसी भी ग्रामवासी को लाभ राशि नहीं मिली ,पँचायत द्वारा निर्माण की गई कुछ सीसी सड़के या तो धरासाई हो गई ,या तो कुछ सड़क निर्माण के पैसे निकाले जा चुके है लेकिन सड़क का निर्माण कार्य नही हुआ,पीएम आवास की पूरी राशि ग्रामीणों को नहीं मिली ,डेम निर्माण के लिए 12 लाख की राशि आवंटित हुई जिसमें घोटाला किया गया है, सहित अन्य 14 बिंदुओं में शिकायत देते हुए ग्रामीणों ने निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाप कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग करते की गई है,

इनका कहना है,जल्द ही पूरे मामले की जांच की जाएगी,

एसडीएम सिहोरा सी.पी.गोहिल ,

देखें मंझोली की पड़वार पँचायत का कारनामा

181 की शिकायत भी नहीँ आ रही कोई काम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close