बड़ी खबरमध्य प्रदेश

भाजपा नेता व पूर्व मंत्री संजय पाठक की दो खदानें सील,जय मिनरल्स को सील करने की तैयारी में प्रसासन


जबलपुर :पूर्व मंत्री व भाजपा नेता की दो खदानों पर आज कार्यवाही करते हुए प्रसासन ने उन्हें सील कर दिया है ,साथ ही प्रसासन जय मिनरल्स को भी सील करने की तैयारी में है ,प्राप्त जानकारी के मुताबिक सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में जिले की सिहोरा तहसील के ग्राम अगरिया और दुबियारा में स्थित मेसर्स निर्मला मिनरल्स को स्वीकृत आयरन ओर की खदान को बंद करा दिया गया है। खदान को बंद कराने की यह कार्यवाही कलेक्टर भरत यादव के निर्देश पर आज खनिज विभाग द्वारा की गई। साथ ही ग्राम सिंदुरी में 9 हेक्टेयर रकबे में स्वीकृत मेसर्स जय मिनरल्स की खदान को लगातार 2 वर्ष से अधिक समय तक बंद रहने की वजह से खदान लेप्स करने का प्रस्ताव खनिज विभाग द्वारा शासन को भेजा गया है।


जिले के खनिज विभाग द्वारा खदान को बंद करने की कार्यवाही की गई है ।  इस संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में जबलपुर जिले की सिहोरा तहसील के ग्राम अगरिया खसरा नंबर 1093 और दुबियारा खसरा नंबर 628/1, पर मैसर्स निर्मला मिनरल्स को स्वीकृत आयरन ओर की खदानों को पुनः बन्द करने के आदेश जारी कर दिया गया है। उल्लेखनीय हैं कि वनमंडलाधिकारी जबलपुर के पत्र दिनांक 07-06-2019 के अनुसार उक्त भूमियो के संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिनांक 03-05-2019 को आदेश पारित कर खनन बंद करने निर्देशित किया गया है। इस आधार पर कलेक्टर जबलपुर द्वारा दिनांक 10-06-2019 को आदेश जारी कर खनन पर रोक लगा दी गई थी। पट्टेदार द्वारा प्रस्तुत अभ्यावेदन पर तथा माननीय महाधिवक्ता से प्राप्त अभिमत के आधार पर कलेक्टर द्वारा अपने आदेश दिनांक 13-08-2019 से स्थगन आदेश जारी कर अपने पूर्व आदेश दिनांक 10-06-2019 पर रोक लगा दी गई। 


लगभग 6 माह से भी अधिक समय व्यतीत होने के उपरांत भी पट्टेदार यह प्रमाणित करने में असफल रहा है कि उक्त भूमि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश से प्रभावित नही होती हैं। इसलिए आज इस संबंध में कलेक्टर द्वारा जारी पूर्व के स्थगन आदेश को निरस्त कर खदान पुनः बंद करा दी गई है।


मेसर्स जय मिनरल्स प्रो जय कुमार सिंह के पक्ष में ग्राम सिंदूरी में रकबा 9 हेक्टेयर पर खनिज आयरन ओर की खदान स्वीकृत है। माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्मला मिनरल्स के समरूप आदेश के अनुपालन में शासन द्वारा उक्त भूमि को शासन स्तर की समिति ने वन भूमि घोषित कर दिया था जिसके विरूद्ध जय मिनरल्स  द्वारा माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर में प्रस्तुत याचिका क्रमांक 11789/2011 में दिनांक 05-05-2014 को यथा स्थिति के आदेश किये है। उक्त खदान वर्ष 2015 से पर्यावरण अनापत्ति के आभाव में बंद है। लगातार 2 से अधिक वर्षो से बंद रहने से खदान लेप्स करने प्रस्ताव शासन को भेजा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close