अपराधमध्य प्रदेश

मवेशियों को लेकर मंझोली में दो पक्ष आपस में भिड़े,जमीन में पटक-पटक कर मारा

जबलपुर :मवेशियों को लेकर दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई,दोनों पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए मामले की जांच सुरु कर दी है,

मवेशियों को लेकर मारपीट

मामला मझौली थाना क्षेत्र का है पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक दिनंाक 16-08-2020 की रात्रि लगभग 1-15 बजे भागचंद पटैल उम्र 53 वर्ष निवासी नंदग्राम ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि दिनांक 15-08-2020 की शाम लगभग 5 से 6 बजे उसके बड़े भाई के लड़के जितेन्द्र पटैल से  विनोद कुमार झारिया तथा उसका बहनोई से खेत पर जानवर आने की बात को लेकर विवाद हो गया था उसी बात को लेकर दोनों जितेन्द्र पटैल को गाली  गलोज कर रहे थे वह लगभग 10 बजे रात मंदिर से रामायण बंद होने के बाद प्रसाद लेकर घर जाने लगा तभी विवाद देखकर वह बोला कि गाली क्यों दे रहे हो तो विनोद झारिया का बहनोई और विनोद झारिया गाली गलौज करते हुये कहने लगे कि तू बीच में क्यों बोलता है एवं बिनोद झारिया ने कुल्हाड़ी से हमला किया उसने कुल्हाड़ी पकड़ लिया जिससे उसकी वायें हाथ  की गदेली में चोटें आई हैं। तो वहीं रामदास मेहरा उम्र 60 वर्ष  निवासी नंदग्राम ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि दिनंाक 15-08-2020 की रात्रि लगभग 10 बजे वह अपने घर वाड़ी में घुस बछड़ों को निकालकर गांव के बाहर ले जा रहा था उसी समय गांव का  जित्तु कुर्मी शराब पीकर आया और उसे देखकर गाली  गलोज करते हुये बोला कि बछड़े कहां ले जा रहा है , उसने गाली देने से मना किया एव अपने घर वापस आ गया उसके बाद जित्तु कुर्मी उसके घर के पास आकर गाली गलौज करने लगा उसी समय त्रिलोक पटैल आया और उसे पकड़कर घर के सामने जमीन पर पटक कर हाथ मुक्कों से मारपीट करने लगा उसे पिटते देख उसका बेटा बिनोद मेहरा आया तो पीछे से सुरेन्द्र कुर्मी ने उसके बेटे विनोद को डंडे से हमला कर हाथ पैर में चोट पहुचा दी, उसी समय रविन्द्र आ गया जो उसके बेटे बिनोद के साथ हाथ मुक्केां से मारपीट किया, उसकी पत्नी   एवं बेटी   आकर बीच बचाव करने लगीं तो सुरेन्द्र ने बेटी  को चांटा मार तथा पत्नि का गला पकड़ कर धकेल दिया एवं चारों लोग मारपीट कर जान से मारने की धमकी देते हुये भाग गये। भागचंद की रिपोर्ट पर धारा 294, 323, 324, 34 भादवि एवं रामदास की  रिपोर्ट पर धारा 294, 323, 506, 34 भादवि 3(1)ध, 3(2) (व्हीए) एससी एसटी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close