बड़ी खबरमध्य प्रदेश

महाविद्यालयों में लगाए जाएंगे योजनाओं के फ्लेक्स

जबलपुर :प्रदेश के सभी शासकीय, अशासकीय, अनुदान प्राप्त अशासकीय महाविद्यालयों में कॉलेज चलो अभियान के अन्तर्गत उच्च शिक्षा की विभिन्न योजनाओं के फ्लेक्स लगाए जायेंगें। फ्लेक्स से महाविद्यालयों में नवीन प्रवेशित विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा विभाग की विभिन्न छात्र-हित की योजनाओं की जानकारी आसानी से मिल सकेगी।
योजनाएँ

गाँव की बेटी योजना – गाँव की पाठशाला से प्रथम श्रेणी में 12 वीं परीक्षा उत्तीर्ण छात्राओं के लिए प्रति वर्ष रू. 5,000/- प्रोत्साहन राशि।
प्रतिभा किरण योजना- शहर की पाठशाला से प्रथम श्रेणी में 12 वीं परीक्षा उत्तीर्ण एवं बी.पी.एल. कार्डधारी छात्राओं के लिए प्रति वर्ष रू. 5,000/- प्रोत्साहन राशि।
मुफ्त स्टेशनरी एवं पुस्तकें- अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के लिए रू. 1,500/- की पुस्तकें तथा रु. 500/- की स्टेशनरी प्रदान की जाती है। उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा सवर्ण एवं पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को भी स्टेशनरी प्रदान करने की घोषणा की ।
पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति- अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति में छात्रावासी को रू. 570/- प्रतिमाह, गैर छात्रावासी को रू. 300/- प्रतिमाह, अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रावासी को रू. 400/- एवं गैर छात्रावासी को रू. 230/- प्रतिमाह एंव अनिवार्य शुल्क एवं गैर वापसी शुल्क की प्रतिपूर्ति।
शोध छात्रवृत्ति- अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों को शोध छात्रवृत्ति- 16,000/- प्रति माह तीन वर्ष तक दिए जाने की प्रावधान है।
आवास योजना- अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के लिये तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के ग्रुप में 02 विद्यार्थियों को आवास भत्ता संभाग स्तर पर रू. 2000/-, जिला स्तर पर रू. 1250/-, तहसील स्तर पर रू. 1000/- प्रतिमाह।
शोध छात्रवत्ति (दिव्यांग विद्यार्थी)- दिव्यांग विद्यार्थी को शोध छात्रवृत्ति रू. 16,000/- प्रतिमाह तीन वर्ष तक (10 छात्रों को प्रतिवर्ष) दिए जाने की प्रावधान है।
नि:शक्तजन विद्यार्थियों के लिये योजना- नि:शक्तजन विद्यार्थियों को कम्प्यूटर एवं प्रबंध शिक्षा के लिए जीवन निर्वाह एवं परिवहन भत्ता योजना, कम्प्यूटर एवं प्रबंधन में ली जाने वाली फीस की प्रतिपूर्ति के साथ संभाग स्तर पर रू. 1500/- प्रतिमाह निर्वाह भत्ता, नगर निगम क्षेत्र में रू. 500/- एवं निगम पब्लिक स्तर पर रू. 300/- परिवहन भत्ता प्रतिमाह।
मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना (MMVJKY)- मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना सभी वर्गों के लिए हैं। पिता/पालक की वार्षिक आय 6 लाख से कम। 12वीं कक्षा माध्यमिक शिक्षा मंडल से उत्तीर्ण होने पर न्यूनतम 70 प्रतिशत, सी.बी.एस.सी./आई.सी.एस.सी. से उत्तीर्ण होने पर न्यूनतम 85 प्रतिशत होना अनिवार्य है।
मुख्यमंत्री विद्यार्थी जनकल्याण योजना (MMVJKY)- मुख्यमंत्री विद्यार्थी जनकल्याण शिक्षा प्रोत्साहन योजना के अन्तर्गत मध्यप्रदेश शासन के श्रम विभाग में असंगठित कर्मकार के रूप में पंजीयन हो। सभी वर्गों के विद्यार्थियों के लिए, जो स्नातक या स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्राप्त करते हैं, तो उनका शिक्षण शुल्क राज्य शासन द्वारा वहन किया जायेगा।
विदेश में उच्च शिक्षा- विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए अनारक्षित वर्ग के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के लिए स्नातकोत्तर एवं पी-एच.डी. उपाधि के लिए छात्रवृत्ति योजना अधिकतम 02 वर्ष तक 40 हजार डॉलर प्रतिवर्ष का प्रावधान है।
अल्पसंख्यक विद्यार्थियों हेतु केन्द्र सरकार की छात्रवृत्ति- अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को केन्द्र सरकार द्वारा दी जाने वाली मेरिट कम-मीन्स छात्रवृत्ति। छात्रावासी विद्यार्थियों के लिए रू. 1000/- एवं गैर छात्रावासी के लिए रू. 500/- प्रतिमाह की दर से 10 माह तक अनुरक्षण भत्ता एवं पाठ्यक्रम शुल्क में वास्तविक अथवा रू. 20 हजार, जो भी कम की प्रतिपूर्ति।
सेन्ट्रल सेक्टर- मेधावी विद्यार्थियों के लिए केन्द्र सरकार द्वारा 10 हजार प्रतिवर्ष प्रदान की जाती है।
सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी हेतु कोंचिंग की योजना- अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों को संघ लोक सेवा आयोग/ मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए प्रतिष्ठित कोंचिंग संस्था से कोंचिग की योजना में प्रारंभिक परीक्षा एवं मुख्य परीक्षा के लिए शिष्यवृत्ति रू. 12 हजार 500/-, हिन्दी माध्यम से 1 लाख 25 हजार, अंग्रेजी माध्यम से एक लाख 50 हजार, पुस्तक के लिए 15 हजार, 12 माह का प्रशिक्षण/साक्षात्कार के लिए 12 हजार 500 तथा एक माह कोंचिग शुल्क 20 हजार अधिकतम निर्धारित है।
सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना-अनूसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति, सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत संघ लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा के लिए 40 हजार एवं मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा के लिए 20 हजार तथा संघ लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा के लिए 60 हजार एवं मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा हेतु 30 हजार रूपये अधिकतम राशि निर्धारित है।
विज्ञान एवं सामाजिक विषयों में प्रवेश पर प्रोत्साहन योजना- जनजातीय विभाग द्वारा अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों को विज्ञान एवं सामाजिक विषयों में प्रवेश पर प्रोत्साहन योजना के अन्तर्गत 3 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close