मुरेठ का पुल देख रहा अच्छे दिन का रास्ता

शेयर करें:

जबलपुर :जिले की एक ऐसी तहसील जहाँ के विधायक अजय विश्नोई कभी स्वास्थ मंत्री रह चुके है और एक बार फिर से उसी मंझोली पाटन विधानसभा से वर्तमान में विधायक है लेकिन दर्जनों ग्रामों को जोड़ने वाले मुरेठ पुल का जीणोद्धार आज तक नहीँ हो पाया इनके पूर्व की बात करें तो यहाँ पर नीलेश अवस्थी विधायक थे जिन्होंने पुल बनवाने की मांग की थी जिसका बैनर भी इनके द्वारा लगाया गया था लेकिन न जाने वो बैनर कहाँ बह गया अब जीतकर आये पूर्व मंत्री व वर्तमान विधायक अजय विश्नोई से ग्रामीणों की आस जुड़ी है की शायद अब इनके द्वारा मुरेठ पुल के अच्छे दिन लौट आयें तो वहीं ग्रामीणों का आरोप है की क्षेत्र में विधायक हो या जिले में बैठे बड़े दिग्गज नेता सब सिर्फ पुल निर्माण के वादे ही करते आये है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है आज भी खस्ता हालत में पड़ा पुल अपने नए विकाश और अच्छे दिन की राह देख रहा है

(फोटो ऋषभ पटेल )

हो चुका है कागजों में टेंडर

वहीं सूत्रों की मानें तो मुरेठ पुल के नव निर्माण की कागजी कार्यवाही गत वर्षों ही सुरु हो गई थी लेकिन अभी तक पुल सिर्फ कागजों तक ही सिमिट कर रह गया है अब ऐसे में पुल के निर्माण न होने से प्रभावित दो दर्जन ग्राम और ग्रामीण परेसान है जो अपना दुखड़ा किसको सुनावें आपको बता दें की पुल निर्माण से तकरीबन दो दर्जन ग्राम के ग्रामीण जो की जबलपुर जाने के लिए 15 किलोमीटर सिहोरा से घूमकर जाते है उनका मार्ग सुलभ हो जाएगा साथ ही किसानो के लिए भी बड़ी सुविधा होगी

इनका कहना है :हमने एक साल का समय लोगों से मांगा है एक वर्ष में मुरेठ के पुल का निर्माण कार्य करवा दिया जायेगा

मंझोली विधायक ,अजय विश्नोई