बड़ी खबरमध्य प्रदेश

सिंहपुर में सर्विस रिवॉल्वर से चली गोली,लॉकप में संदेही की हत्या के बाद थाने में बबाल

सतना, (ननकू यादव ): सतना जिले के सिंहपुर थाना के लॉकअप में चोरी के संदेही की थानेदार की सर्विस रिवॉल्वर से हुई मौत के बाद बवाल मच गया है। मृतक के परिजन और बड़ी संख्या में ग्रामीण थाने पहुंच गए हैं और सड़क पर धरने पर बैठ गए हैं। परिजनों का सीधा आरोप है कि थानेदार ने शराब के नशे में गोली मार कर राजपति कुशवाहा की हत्या कर दी है। उधर थाना में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इस मामले पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने आरोपो के घेरे में आये सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक और आरक्षक आशीष को निलंबित कर दिया है।
गौरतलब है कि सिंहपुर थाना इलाके के नारायणपुर गांव में बढ़ईगीरी और राजगीर मिस्त्री का काम करने वाले राजपति कुशवाहा 45 वर्ष की रविवार की रात सिंहपुर थाना के अंदर गोली लगने से मौत हो गई। जिस बंदूक से राजपति को गोली लगी वह सिंहपुर थाना प्रभारी विक्रम पाठक की सर्विस रिवॉल्वर थी। गोली लगने के बाद राजपति को सिंहपुर थाना से बिरला अस्पताल ले जाया गया था जहां उसकी मौत हो गई थी बावजूद इसके उसे रीवा मेडिकल कालेज ले जाया गया।
सुबह जब परिजन थाना पहुंचे तो पता चला कि राजपति की मौत हो चुकी है। यह सूचना नारायणपुर पहुंची तो मृतक की पत्नी बच्चों समेत सैकड़ा भर ग्रामीण सिंहपुर पहुंच गए। परिजन और ग्रामीण थाना के सामने सड़क पर बैठ गए और उन्होंने नागौद कालिंजर मार्ग पर आवागमन ठप कर दिया।


थानेदार सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक जिस पर परिजन लगा रहे हैं हत्या के आरोप


मृतक की पत्नी और अन्य परिजनो का आरोप है कि पुलिस ने लल्लू गर्ग नाम के व्यक्ति के इशारे पर राजपति को चोरी के संदेह में रविवार की दोपहर लगभग 2 बजे घर से उठाया था। थानेदार विक्रम सिंह, आरक्षक आशीष सिंह और नीरज त्रिपाठी उसे थाना ले आये थे। रात में जब राजपति का भांजा थाना भोजन ले कर आया तो उसे भगा दिया गया। कुछ ही देर बाद रात लगभग सवा 9 बजे उसने थाना के अंदर गोली चलने की आवाज सुनी। थोड़ी देर बाद पुलिस कर्मी किसी को गाड़ी में लाद कर ले गए ।


नारेबाजी की रास्ता रोका और बोले हमे भी मार दो गोली


बेहद आक्रोशित परिजन और ग्रामीण पुलिस को खुली चुनौती पेश करते हुए धरने पर तो बैठे ही थे पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे थे। पुलिस के वाहनों कें रास्ते पर लेट गए नाराज लोग एसडीओपी, एडिशनल एसपी और आरआई से भी उलझ गए। ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस अब हमें भी गोली मार दे । इस दौरान पुलिस और नाराज लोगो के बीच कई बार झड़प भी हुई।


रीवा में है शव


सिंहपुर थाना भवन के अंदर पुलिस की अभिरक्षा में पुलिस की ही गोली लगने से मृत राजपति कुशवाहा का शव मेडिकल कालेज रीवा में है। उसे रात में ही रीवा ले जाया गया था। परिजन शव सामने लाने की मांग कर रहे हैं। पुलिस माहौल को ठंडा करने की कोशिश कर रही है। सिंहपुर थाना में एडिशनल एसपी हितिका वासल, गौतम सोलंकी, आरआई सत्यप्रकाश मिश्रा, एसडीओपी और टीआई नागौद, सिविल लाइन टीआई समेत एसएएफ और जिला पुलिस बल के जवान भारी संख्या में तैनात किए गए हैं। उधर रैगांव और नारायणपुर में भी पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close