जरा हटकेमध्य प्रदेश

सिहोरा की रिठौरी माइनर में अड़ा कचरा, बूंद -बूंद पानी को तरस रहे किसान

 

जबलपुर :हर साल गर्मी के समय नहरों का मेंटिनेश करवाने की जिम्मेदारी नहर विभाग की होती है, लेकिन नहरों का मेंटिनेश नहर विभाग द्वारा कितनी ईमानदारी से करवाया जा रहा है ये तो रिठौरी माइनर की हालत देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है, किसानों का आरोप है की जबसे यह नहर बनी है तबसे लेकर आजतक इस नहर का मेंटिनेश नहर विभाग द्वारा नहीं करवाया गया,जिसके चलते नहर में कचरा इतना अड़ा हुआ है की पता ही नहीं चलता की नहर कहाँ है, कचरे में पूरी नहर समा गई है,

जगह -जगह से छतिग्रस्त है नहर 

वहीं इतना ही नहीँ किसानों का यह भी आरोप है की जबसे नहर बनी तबसे लेकर आजतक इस नहर का मेंटिनेश नहीं किया गया है नतीजन आज नहर जगह -जगह से छतिग्रस्त है, सभी किसानों को पानी नहीँ मिल पा रहा है ,इतना ही नहीँ  रिठौरी माइनर जिसमें तकरीबन एक दर्जन गाँव की हजारों एकड़ जमीन आश्रित है ,लेकिन नहर का मेंटिनेश न होने से सब किसानों को इसका लाभ नहीँ मिल पा रहा है ,जिसमें की आल्गोड़ा उमरिया,रिठौरी के आसपास किसान तो नहर के पानी को तरस ही रहे है ,जिसकी बजह है नहर में अड़ा हुआ  कचड़ा,

सूख रहीँ फसलें

वहीं आल्गोड़ा के किसानों ने बताया की नहर से पानी न मिल पाने व बरसात अच्छे से न होने के कारण उनके खेतो में लगी धान की फसलें सूख कर खराब हो रहीँ है क्योंकि सभी किसान सम्पन्न नहीं है की उनके यहां कुँआ पंप के साधन हों ऐसे में नहर व ऊपर वाले के आश्रित इन किसानों की फसलें आज पानी के अभाव में नष्ट हो रहीँ है,

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close