आज और कल नर्मदा के घाटों पर नौका संचालन प्रतिबंधित

शेयर करें:

जबलपुर, मकर संक्रांति पर स्नान एवं पूजा अर्चना के लिये श्रद्धालुओं की उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुये कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी कर्मवीर शर्मा ने नर्मदा नदी के सभी घाटों ग्वारीघाट, जिलहरीघाट, तिलवाराघाट, लम्हेटाघाट एवं भेडाघाट में गुरुवार 14 एवं शुक्रवार 15 जनवरी को नौकाओं के संचालन को पूर्णतः प्रतिबन्धित कर दिया है। कलेक्टर के निर्देश पर अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित ने आज बुधवार को ग्वारीघाट सहित नर्मदा के अन्य घाटों में पहुंचकर श्रद्धालुओं के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
मकर संक्रांति पर दुर्घटनाओं की संभावनाओं को रोकने तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने के सतर्कता के बतौर जिला दंडाधिकारी द्वारा जारी प्रतिबंध से केवल उन नौकाओं को छूट रहेगी, जिनका संचालन नर्मदा तट स्थित गांवों के निवासियों के आवागमन के लिये किया जाता है । शेष सभी नौकाओं से सभी प्रकार का परिवहन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा ।
नगर निगम को घाटों की साफ-सफाई करने तथा कमांडेंट होमगार्ड को गोताखोर तैनात करने के निर्देश :
जिला दंडाधिकारी ने मकर संक्रांति पर 14 एवं 15 जनवरी को नौकाओं के संचालन को प्रतिबंधित करने के साथ ही अलग-अलग आदेश जारी कर जहाँ आयुक्त नगर निगम को ग्वारीघाट एवं तिलवाराघाट में सुरक्षा के सभी जरूरी इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। वहीं उन्हें इन घाटों पर साफ-सफाई, मंच, लाउड स्पीकर एवं स्थानीय गोताखोर की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी भी सौंपी है । श्री शर्मा ने कमांडेंट होमगार्ड को भी पत्र जारी कर नर्मदा नदी के सभी घाटों पर मकर संक्रांति के पर्व के दौरान होमगार्ड के गोताखोर तैनात करने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने सीएमओ नगर पंचायत भेडाघाट को भी घाट पर साफ-सफाई, मंच एवं ध्वनि विस्तारक यंत्र की व्यवस्था सुनिश्चित करने निर्देश दिये हैं ।
जल स्तर स्थिर रखें :
जिला दण्डाधिकारी ने मकर संक्राति पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के घाटों पर एकत्रित होने की संभावना को देखते हुये बरगी बांध के अधीक्षण यंत्री को नर्मदा नदी के जलस्तर को स्थिर बनाये रखने के आदेश भी दिये । ताकि किसी तरह की दुर्घटना की आशंका को रोका जा सके।
चिकित्सको की टीम एवं एम्बुलेंस तैनात करने के निर्देश :
जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने मकर संक्रांति के मद्देनजर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को ग्वारीघाट, तिलवाराघाट और भेडाघाट पर 14 एवं 15 जनवरी को चिकित्सकों की टीम एवं एम्बुलेंस तैनात करने के निर्देश दिये हैं। ताकि दुर्घटना या आकस्मिकता की स्थिति में पीड़ित को तत्काल प्राथमिक उपचार दिलाया जा सके।