महिलाओं को सुरक्षित वातावरण उपलब्ध कराने ली गई शपथ

शेयर करें:

 

जबलपुर,महिला अपराध उन्मूलन में समाज की सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करने तथा महिलाओं और बालिकाओं के लिए समाज में सम्मानजनक सुरक्षित एवं अनुकूल वातावरण तैयार करने के उद्देश्य से चलाये जा रहे पंद्रह दिनों के सम्मान अभियान की जबलपुर जिले में शुरुआत आज यहां कलेक्ट्रेट कार्यालय में मौजूद अधिकारियों द्वारा नारियों को सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराने की शपथ लेने के साथ की गई। अधिकारियों को महिला को अपने आसपास सुरक्षित वातावरण उपलब्ध कारने की यह शपथ कलेक्टर कर्मवीर शर्मा द्वारा दिलाई गई। इस मौके पर सिहोरा की विधायक श्रीमती नंदिनी मरावी एवं पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ बहुगुणा विशेष रूप से मौजूद थे। अधिकारियों द्वारा ली गई शपथ के पहले पंद्रह दिवसीय सम्मान अभियान के दौरान प्रतिदिन आयोजित की जाने वाली गतिविधियों पर चर्चा करने कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन भी किया गया। बैठक में विधायक श्रीमती नंदिनी मरावी, पुलिस श्री सिद्धार्थ बहुगुणा नगर निगम आयुक्त अनूप कुमार, अपर कलेक्टर संदीप जीआर एवं हर्ष दीक्षित, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित कुमार तथा महिला बाल विकास विभाग, स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी एवं गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे।
विधायक श्रीमती नंदिनी मरावी ने बैठक में अपने विचार व्यक्त करते हुए सम्मान अभियान में समाज की सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करने का सुझाव दिया। उन्होंने महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान दिलाने के लिए समाज के अनुकूल वातावरण तैयार करने के उद्देश्य से इस अभियान को प्रारंभ करने के लिए मुख्यमंत्री को साधुवाद भी दिया। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने बैठक में महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान दिलाने के इस अभियान को महत्वपूर्ण बताते हुए महिला बाल विकास विभाग, पुलिस, स्कूल शिक्षा एवं उच्च शिक्षा विभाग तथा ग्रामीण विकास विभाग को सभी विभागों को मिल-जुलकर जागरूकता की गतिविधियां आयोजित करने के निर्देश दिये। श्री शर्मा ने सम्मान अभियान के उद्देशों तथा महिलाओं एवं बालिकाओं को प्राप्त कानूनी अधिकारों का लड़कियों के स्कूलों और कॉलेजों में जाकर प्रचार-प्रसार करने की जरूरत भी बताई। उन्होंने कहा कि इस अभियान के साथ-साथ बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को भी एक्टिव मोड में संचालन किया जाये। कलेक्टर ने वन स्टॉप सेंटर की गतिविधियों को भी इस अभियान से जोडऩे के निर्देश देते हुए घरेलू हिंसा की शिकार हुई महिलाओं को रोजगार मूलक कार्यों से जोडऩे पर बल दिया। श्री शर्मा ने बैठक में मौजूद विभिन्न विभागों में पदस्थ महिला अधिकारियों से भी अलग-अलग क्षेत्र में जाकर महिला सम्मान अभियान का प्रचार-प्रसार करने और इस अभियान में सक्रिय भागीदारी निभाने का आव्हान किया। उन्होंने अभियान के प्रभावी संचालन के लिए जिम्मेदार विभागों के अधिकारियों का सम्मान के नाम से व्हाट्सएप आज ग्रुप बनाने का सुझाव भी दिया। कलेक्टर ने जागरूकता पैदा करने सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म का इस्तेमाल करने के निर्देश भी बैठक में दिये। उन्होंने साइबर अपराध से सुरक्षा के लिए भी महिलाओं में जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता बताई और इस विषय पर कार्यशाला के आयोजन करने कहा।श्री शर्मा ने बैठक में महिला के प्रति होने वाले अपराधों के लिहाज से हॉट-स्पॉट के रूप में चिन्हित क्षेत्रों में विशेष गतिविधियों के आयोजन के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत ऐसे व्यक्तियों को भी चिन्हित किया जाये, जिन्होंने महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ताकि उन्हें 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस में जिले के मुख्य समारोह में सम्मानित किया जा सके। कलेक्टर ने बैठक में कहा कि सम्मान अभियान को लगातार 15 दिन तक चलाने के राज्य शासन से निर्देश प्राप्त हुए हैं, लेकिन जबलपुर जिले में इस अभियान से जुड़ी गतिनिधियों को आगे भी जारी रखा जायेगा। कलेक्टर ने कहा कि कुल मिलाकर जिले में ऐसा माहौल बनाना होगा कि महिलाओं के प्रति अपराध करने वाले ऐसा करने के पहले कई बार सोचें कि उन्हें इसके क्या-क्या नतीजे भुगतने पड़ सकते हैं।
बैठक के प्रारंभ में पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने सम्मान अभियान के उद्देशों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अभियान के तहत महिलाओं एवं बालिकाओं के सम्मान एवं उनकी सुरक्षा के प्रति समाज में जागरूकता पैदा करने प्रतिदिन गतिविधियां आयोजित की जायेंगी। महिला सुरक्षा के लिहाज से संवेदनशील क्षेत्रों अथवा हॉट स्पॉट का चयन किया जायेगा। ऐसे क्षेत्रों में महिला सुरक्षा आडिट होगा तथा सुधारात्मक कदम उठाये जायेंगे। महिलाओं को अलग-अलग समूहों में उनके कानूनी अधिकारों की जानकारी भी दी जायेगी।
श्री बहुगुणा ने बैठक में बताया कि महिला सुरक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में जगह-जगह बैनर-पोस्टर लगाये जायेंगे। इसके साथ ही सार्वजनिक परिवहन के साधनों बसों एवं ऑटो रिक्शा में स्टीकर चस्पा कर महिला हेल्पलाइन एवं कंट्रोल रूम के नंबर भी प्रदर्शित किये जायेंगे। महिला सम्मान के प्रति जागरूकता पैदा करने में सोशल मीडिया का इस्तेमाल भी किया जायेगा तथा जिला स्तर पर वाद-विवाद, चित्रकला, निबंध आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया जायेगा।
सेफ सिटी में शामिल हुआ जबलपुर
बैठक में बताया गया कि जबलपुर शहर को महिलाओं एवं बालिकाओं को सुरक्षा और सम्मान दिलाने के मकसद से जबलपुर को सेफ सिटी योजना में शामिल किया गया है।